Green children of Woolpit : प्रकृति का अजूबा थे या दूसरे ग्रह के प्राणी !

0
254

12 सदी के दौरान इंग्लैंड में राजा स्टीफ़न का शासन काल था. तब वहां के सफोक गांव में फसल कटाने के समय एक अजीब घटना घटी थी. जब वहा के किसान खेतो में काम कर रहे थे, तभी रिचर्ड डी नाम के आदमी को जंगलों मे से एक अजीब सी सुरीली घंटियों कि आवाज़ सुनाई दी. रिचर्ड डी और बाकी किसान जब वहां पहुंचे तब उन्होंने दो छोटे बच्चों को देखा जिनमें से एक लड़का और लड़की थी. वो दोनों दिखने मे मनुष्य जैसे ही थे , मगर उनके शरीर का रंग हरा था और उन्होंने एक अलग ही प्रकार के सामग्री से बनाये हुए पोशाक पहने हुये थे. उनकी भाषा और आवाज़ अलग ही प्रकार की थी. जब उनको घर लाया गया तब रिचर्ड डी के अनुसार लड़का लड़की दोनों आपस में एक अलग ही प्रकार की , भाषा का उपयोग कर रहे थे जो किसी को नहीं समझ रही थी और वो कच्चे बिन्स ही खाते थे और कुछ दिनों बाद फल खाने लगे मगर किसी भी प्रकार खाना नहीं खा रहे थे.

कुछ दिनों बाद लड़का बीमार पड़ गया और उसकी मौत हो गई , मगर लड़की ने यहा के हालातों से समझौता कर लिया और कुछ सालों बाद उसके शरीर का रंग धीरे-धीरे सामान्य होने लगा और वो स्वस्थ युवती बन गई और उसने अंग्रेजी भी सिख ली, उसके बाद उसने पास ही के शहर लेवेनम के एक आदमी से शादी कर ली मगर कुछ सालों बाद वो विधवा हो गई. जब उसे यहाँ के भाषा का ज्ञान हुआ तब उसने अपनी पूरी कहानी सुनाई जो बहुत ही चौंका देने वाली थी. उसने बताया की ये दोनों भाई बहन सेंट मार्टिन जगह से आये है ,जहा पर उनके जैसे ही हरी त्वचा वाले लोग रहते है और वहा पर पृथ्वी जितनी रोशनी नहीं है, क्यूँ की वहा सूरज जैसा कुछ भी नहीं इसलिए वहा पर बहुत कम रोशनी आती है. जब उसे पूछा गया की तुम दोनों यहाँ पर कैसे आये, तब उस लड़की ने बताया की एक दिन दोनों भाई बहन भेड़ चराते हुये एक गुफा की द्वार पर पहुंचे, तब उन्हें अत्यंत सुरेली घंटियो कि आवाज़ सुनाई दी. तब वो गुफा के अंदर गये. कुछ समय बाद उन्हें वापस जाने का मन किया. जब वो वापस जाने के लिए गुफा के द्वार को खोजने लगे खोजते-खोजते जब तो वो बाहर आये तो वो दोनों एक अलग ही दुनिया मे थे और इस नई दुनिया को देख कर घबरा गये और आश्चर्यचकित भी . तब लड़की की बाते किसी को समझ में नहीं आयी क्यूँ के वुलपिट में किसी भी प्रकार की गुफा नहीं थी. कुछ वैज्ञानिक मानते है की ये दोनों बच्चे ब्लैक होल से ही हमारी पृथ्वी पर आये होंगे. क्यूँ के इसके बिना दूसरी दुनिया से इतने कम समय में आना संभव नहीं है. कभी कभी ब्लैक होल प्राकृतिक घटना से अपने आप पैदा हो जाता है. लगता है की ये दोनों ऐसे ही एक ब्लैक होल से आये होंगे. या हो सकता है जिस गुफा से ये दोनों अंदर आये उस गुफा में प्राकृतिक घटना से अपने आप ब्लैक होल पैदा हो गया हो और उन दोनों उसमे प्रवेश कर के हमारी दुनिया में आ गए हो. ग्रीन चिड्रेन्स की पहेली का बहुत से लोगों ने स्पष्टीकरण दिया है कि ये बच्चे धरती के अंदर एक छुपी हुई दुनिया से आये है या वे किसी समांतर आयाम से आये है या वो परग्रही प्राणी गलती से हमारी पृथ्वी पर पहुंच गये. स्कॉटिश खगोल शास्त्री डंकन लुणान कहते है कि ये दोनों बच्चे पृथ्वी पर किसी अन्य ग्रह से एक ख़राब ट्रांसमीटर की त्रुटि द्वारा यहाँ आये होंगे. और कुछ विचारवंत कहते हैं कि, ये कोई केमिकल का शिकार होने के कारण इनकी त्वचा रंग हरा हो गया होगा. इनमें सब की अलग-अलग राय है. पर सोचने वाली बात है की क्या सेंट मार्टिन जैसी जगह हो सकती है या वहा पर अब भी कोई सभ्यता है या ख़तम हुई है ये तो पता लगाना मुश्किल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here