राजा रावल रतन सिंह की पंद्रहवी पत्नी थी पद्मावती, खिलजी से करना चाहती थी सुलह..!

0
2097

रावल रतन सिंह का विवाह रानी पद्मिनी के साथ हुआ था. उन दिनों राजाओं के लिए एक से अधिक पत्नी होना आम था इसलिए जब रतन सिंह के पास पहले से ही नगमाती नाम की पत्नी थी, तब वह पद्मावती के (रानी पद्मिनी) पिता द्वारा आयोजित ‘स्वयंवर’ में गए और राजाओं और राजकुमारों को हराकर पद्मावती के साथ शादी की. रावल रतन सिंह की 15 पत्नियों में पद्मावती उनकी अंतिम पत्नी थी. रानी पद्मिनी अपूर्व सुन्दर थी. उसकी सुन्दरता की ख्याति दूर-दूर तक फैली थी. उसकी सुन्दरता के बारे में सुनकर दिल्ली का तत्कालीन बादशाह अलाउद्दीन ख़िलज़ी पद्मिनी को पाने के लिए लालायित हो उठा और उसने रानी को पाने हेतु चित्तौड़ दुर्ग पर एक विशाल सेना के साथ चढ़ाई कर दी. रानी ने बीच का रास्ता निकालते हुए कहा कि अलाउद्दीन रानी के मुखड़े को देखने के लिए इतना बेक़रार है तो दर्पण में उसके प्रतिबिंब को देख सकता है. रानी के दीदार के बाद खिलजी की नीयत ख़राब हो गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here