एलिजाबेथ बाथरी:कुंवारी लड़कियों के खून से नहाने की थी लत,बना दिया ह्त्या का वर्ल्ड रिकॉर्ड

0
52

एलिजाबेथ बाथरी-एक ऐसी सीरियल किलर महिला  जिसने हत्या के मामले में वर्ल्ड रिकॉर्ड बना रखा था.दरअसल एलिजाबेथ बाथरी नामक इस महिला को कुंवारी लड़कियों के खून से नहाने की लत थी और इसी सनक के कारण उसने सैकड़ों लड़कियों की बर्बरतापूर्वक ह्त्या की. ह्त्या का तरीका ऐसा था जिसे सुनकर ही रौंगटे खड़े हो जाते हैं. एलिजाबेथ बाथरी का जन्म हंगरी साम्राज्य के बाथरी परिवार मे हुआ था. उसकी शादी फेरेंक नैडेस्‍डी नाम के शख्‍स से हुई थी और वह तुर्कों के खिलाफ युद्ध में हंगरी का राष्‍ट्रीय हीरो था. एलिजाबेथ बाथरी को इतिहास की सबसे खतरनाक और वहशी महिला सीरियल किलर के तौर पर जाना जाता है. जिसने 1585 से 1610 के दौरान अपनी जवानी को बरकरार रखने के लिए अपने महल में 600 से ज्यादा लड़कियों की हत्या कर दी थी. इतना ही नहीं लड़कियों की हत्या करने से पहले उनपर बहुत अत्याचार किया जाता था. आखिरकार उसके 25 सालों के खौफनाक आतंक के बाद हंगरी के राजा ने उसे गिरफ्तार कर लिया और 21 अगस्त 1614 को कैद के दौरान ही उसकी मौत हो गई.

ऐलिजाबेथ, कुवांरी लड़कियों को मौत देने से पहले बुरी तरह प्रताड़ित करती थी. बर्बरता से उनकी पिटाई की जाती थी, उनके हाथों को जला या काट दिया जाता था. कई बार वह लड़कियों के चेहरे या शरीर के दूसरे अंगों का मांस दांतों से काटकर निकाल लेती थी. अंत में उनकी हत्या कर उनका खून एक टब में इकठ्ठा कर लिया जाता जिसमे एलिजाबेथ बाथरी स्नान करती.जब उसे गिरफ्तार किया गया था तब उसके महल से अनेक लड़िकयों की विकृत लाशे औऱ कुछ बेड़ियों से जकड़ी जिंदा लड़कियों को बरामद किया गया.आज एलिजाबेथ बाथरी की मौत के 400 साल पूरे हो चुके हैं. बाथरी के जीवन पर कई किताबें लिखी जा चुकी हैं और कुछ फिल्में भी बन चुकी हैं. ये भी बताया जाता है कि आयरलैंड के उपन्यासकार ब्राम स्टोकर ने बाथरी से ही प्रेरित होकर 1897 में ड्रैकुला उपन्यास लिखा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here