मौत से ठीक पहले हिटलर ने क्यों की थी शादी !

0
767

25 अप्रैल, 1945 के बाद से हिटलर के जीवन का सिर्फ़ एक ही मक़सद था – स्वयं अपनी मौत की तैयारी करना.अपने जीवन के आख़िरी दिनों में हिटलर ज़मीन से 50 फ़िट नीचे बनाए बंकर में ही काम करते और सोते. सिर्फ़ अपनी चहेती कुतिया ब्लांडी को कसरत कराने के लिए वो कभी कभी चांसलरी के बगीचे में जाते, जहाँ चारों तरफ़ बमों से ध्वस्त टूटी हुई इमारतों के मलबे पड़े होते.हिटलर सुबह पाँच या छह बजे सोने जाते थे और दोपहर के आसपास सो कर उठते थे. हिटलर की प्रेमिका इवा ब्राउन भी इसी बनकर में उनके साथ रहती थी. जब हिटलर को पता चल गया कि उनका अंत नजदीक है तो उन्होंने ख़ुदकुशी का निर्णय ले लिया .उन्होंने इवा से कहा कि वो बंकर छोड़ कर किसी सुरक्षित स्थान पर चले जाएं .लेकिन इवा ब्राउन ने इससे इनकार कर दिया. 

बंकर में अपने अंतिम दिनों के दौरान ही हिटलर ने तय किया कि वो इवा ब्राउन से शादी कर उस रिश्ते को वैधता प्रदान करेंगे.हिटलर ने गोएबेल्स और ब्राउन ने बोरमन को अपना गवाह बनाया.”शादी के बाद के भोज में उसके बचे सभी साथी शरीक हुए ,.. इवा और हिटलर के स्वास्थ्य के लिए सबने जाम उठाए. इवा ने काफ़ी शैंपेन पी ली. हिटलर ने भी शैंपेन का एक घूंट लिया और पुराने दिनों के बारे में बातें करने लगे .ढाई बजे हिटलर अपना आखिरी भोजन करने के लिए बैठे. ओटो ग्वेंशे को आदेश मिला कि वो 200 लीटर पेट्रोल का इंतज़ाम करे औऱ उसे जेरी केनों में भर कर बंकर के बाहरी दरवाज़े तक पहुंचाए.

भोजन के बाद हिटलर आख़िरी बार अपने साथियों से मिलने आए. उन्होंने बिना उनके चेहरों को देखे उनसे हाथ मिलाए. इनकी पत्नी इवा ब्राउन भी उनके साथ थीं.उसके बार हिटलर ने खुद को कमरे में बंद कर लिया .सुबह जब हिटलर ने दरवाजा नहीं खोला तो उनके साथियों ने दरवाजा तोड़ दिया. अन्दर हिटलर और इवा ब्राउन की लाश पड़ी हुई थी. ऐसा माना जाता है कि करीब चार बजे के आसपास हिटलर ने खुद को गोली मारी होगी .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here