वैशाली की आम्रपाली : इतिहास की सबसे खूबसूरत महिला जिसके लिए ख़ूबसूरती ही श्राप बन गई

0
247

वैसे तो किसी स्त्री का सौन्दर्य ही उसका असली श्रृंगार माना जाता है। लेकिन ये एक ऐसी स्त्री की वर्षों पुरानी कहानी है जब उसका सौन्दर्य ही उसका सबसे बड़ा शत्रु बन गया और वह मात्र एक नहीं वरन पूरे राज्य के भोग की वस्तु बन गई। इतिहास में इन्हें ‘आम्रपाली’ के नाम से जाना जाता है. आम्रपाली को अपनी खूबसूरती की कीमत वेश्या बनकर चुकानी पड़ी। आम्रपाली ने सालों तक वैशाली के धनवान लोगों का मनोरंजन किया, लेकिन जब वह तथागत बुद्ध के संपर्क में आई तो सबकुछ छोड़कर बौद्ध भिक्षुणी बन गई।

आम्रपाली जैविक माता-पिता एक आम के पेड़ के नीचे मिली थी, जिसकी वजह से उसका नाम ‘आम्रपाली’ रखा गया।आम्रपाली जैसे-जैसे बड़ी होती गई वह और भी ज्यादा आकर्षक दिखने लगी, जिसकी वजह से वैशाली का हर पुरुष उसे अपनी दुल्हन बनाने के लिए बेताब रहने लगा। लोगों में आम्रपाली की दीवानगी इस हद तक थी कि वो उसको पाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते थे। यही सबसे बड़ी समस्या थी।

आम्रपाली के माता-पिता जानते थे कि आम्रपाली को जिसको भी सौपा गया तो बाकी के लोग उनके दुश्मन बन जाएंगे और वैशाली में खून की नदिया बह जाएंगी। इसीलिए वह किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंच पा रहे थे।इसी समस्या का हल खोजने के लिए एक दिन वैशाली में सभा का आयोजन हुआ। इस सभा में मौजूद सभी पुरुष आम्रपाली से विवाह करना चाहते थे जिसकी वजह से कोई निर्णय लिया जाना मुश्किल हो गया था। अंत में सर्वसम्मति के साथ आम्रपाली को नगरवधू यानि वेश्या घोषित कर दिया गया। ऐसा इसीलिए किया गया क्योंकि सभी जन वैशाली के गणतंत्र को बचाकर रखना चाहते थे। लेकिन अगर आम्रपाली को किसी एक को सौंप दिया जाता तो इससे एकता खंडित हो सकती थी। नगर वधू बनने के बाद हर कोई उसे पाने के लिए स्वतंत्र था।

इस तरह गणतंत्र के एक निर्णय ने उसे वेश्या बनाकर छोड़ दिया। आम्रपाली नगरवधू बनकर सालों तक वैशाली के लोगों का मनोरंजन करती है लेकिन जब एक दिन वो भगवान बुद्ध के संपर्क में आती है तो सबकुछ छोड़कर एक बौद्ध भिक्षुणी बन जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here