Lost Tribes : इस आदिम जनजाति से भारत की आर्मी भी डरती है

0
12

भारत में अभी भी कुछ ऐसी आदिम जनजातियां है जिनका बाहरी दुनिया से कोई लेना-देना नहीं है और ना ही वो लोगों से घुलना मिलना पसंद करते हैं. ऐसी ही एक जनजाति है ‘लॉस्ट ट्राइब’, इसने आज तक किसी भी बाहरी शख्स को अपनी जमीन पर कदम नहीं रखने दिया है। इसलिए आज तक इनकी कोई ढंग की फोटो उपलब्ध नहीं हुई है। ये दुनिया से छुपकर रहना ही पसंद करते हैं।

यह जनजाति हिन्द महासागर के एक छोटे से आइलैंड ‘नॉर्थ सेंटिनल’ पर रहती है। यह आइलैंड भारत के जलीय क्षेत्र में स्थित है। आकाश से यह एक सामान्य-सा आइलैंड जैसा ही दिखता है, लेकिन असल में यह एक खतरनाक आइलैंड है . कहा जाता है कि ये जब भी दुनिया के किसी शख्स से मिलते हैं तो हिंसा के साथ ही। आसपास में नीचे उड़ते हवाई जहाजों का ये पत्थरों से स्वागत करते हैं।इतना ही नहीं टूरिस्ट के अलावा मछुआरों के लिए भी यह आइलैंड बेहद खतरनाक है। 2006 में यहां के जनजातियों ने कई मछुआरों को मार डाला था। इससे पहले भी कई बार ये हिंसा कर चुके हैं। हालांकि, ये जनजाति करीब 60,000 सालों से रह रही हैं। इन लोगों को Lost Tribe भी कहा जाता है।

कुछ रिपोर्ट्स में इसे दुनिया की सबसे अलग-थलग रहने वाली जनजाति करार दिया गया है। बंगाल की खाड़ी के पास स्थित इस आइलैंड के लोगों की जिंदगी में भारत सरकार भी हस्तक्षेप नहीं करना चाहती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here