जब मेनका के कारण राजीव गांधी ने गिरा दी चंद्रशेखर की सरकार

चंद्रशेखर की सरकार में मेनका गांधी ने राज्यमंत्री का पद संभाला। इसके चलते राजीव गांधी और चंद्रशेखर के बीच तनाव की स्थिति भी बनी। राजीव गांधी नहीं चाहते थे की उनके समर्थन से बनी सरकार में मेनका को कोई जगह मिले.

0
103

संजय गांधी की मौत के बाद इंदिरा गांधी के घर में मेनका की हालत प्राणी जैसी हो गई. इंदिरा से तो उनकी बनती नहीं थी। धीरे-धीरे राजीव गांधी भी मेनका से नफरत करने लगे. इसकी सबसे बड़ी वजह थी मेनका की राजनैतिक महत्वाकांक्षा। मेनका गांधी परिवार के साए से निकल कर अपना अलग वजूद बनाना चाहती थी. राजीव गांधी को ये बात पसंद नहीं थी. इसलिए जब मेनका गांधी ने दूसरी राजनैतिक पार्टियों का हाथ थामना शुरू किया तो राजीव गांधी उनके पीछे ही पड़ गए.

एक हवाई दुर्घटना में संजय गांधी की असामयिक मृत्यु के बाद गांधी परिवार में मेनका की मौजूदगी कइयों को खटकने लगी।जैसा कि खुद मेनका बताती हैं, आधी रात को उन्हें घर से निकाल बाहर कर दिया गया। वर्ष 1983 में मेनका ने अभिनेता से नेता बने एनटी रामाराव के साथ आंध्र प्रदेश में विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए ‘राष्ट्रीय संजय मंच” नामक एक पार्टी बना ली थी। दूसरी तरफ राजीव गांधी कांग्रेस के महासचिव बना दिए गए और सोनिया अपने पति के साथ मजबूती से खड़ी रहीं।

वर्ष 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए चुनावों में मेनका ने राजीव गांधी के खिलाफ अमेठी से चुनाव लड़ा और हार का सामना किया। 1989 के चुनावों में उन्होंने अपनी पार्टी का विलय तत्कालीन प्रमुख विपक्षी दल जनता दल में कर दिया। वे पीलीभीत से चुनाव जीतीं और बाद में चंद्रशेखर की सरकार में राज्यमंत्री का पद संभाला। इसके चलते राजीव गांधी और चंद्रशेखर के बीच तनाव की स्थिति भी बनी। राजीव गांधी नहीं चाहते थे की उनके समर्थन से बनी सरकार में मेनका को कोई जगह मिले.

राजीव गांधी ने इशारों-इशारों में चंद्रशेखर के सामने अपनी नाराजगी का इजहार भी कर दिया था, लेकिन चंद्रशेखर ने उसे नजरअंदाज कर दिया। ये तनातनी इतनी बढ़ गई की राजीव गांधी ने चंद्रशेखर सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया और सरकार गिर गई. 1991 के चुनावों में मेनका ने भारतीय जनता पार्टी में शामिल होना उचित समझा, क्योंकि तब यह पार्टी राजनीतिक परिदृश्य पर तेजी से उभर रही थी। आजकल मेनका भाजपा में ही है और केंद्र में अहम् मंत्रालय संभाल रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here