Muhammad Shah Rangila:औरतों के कपड़े पहनकर दरबार लगाने वाला मुग़ल सम्राट

0
141

मुग़ल सम्राट फर्रुख्सियर की मौत के बाद सैय्यद बंधुओं ने रफ़ी-उद-दरजात को गद्दी पर बैठा कर सारा शासन अपने हाथों में ले लिया .दरजात रोग क्षय रोग से पीड़ित था और वो जल्द ही मर गया. उसके बाद रफ़ी- उद- दौला गद्दी पर बैठा. वो भी रोग से पीड़ित था और केवल तीन महीने में मर गया. सैय्यद बंधुओं ने अब जहानदार शाह के पुत्र रोशन अख्तर को मुहम्मद शाह के नाम से गद्दी पर बैठाया जो आगे चलकर अपने रंगीले मिजाज के कारण मुहम्मद शाह रंगीला के नाम से मशहूर हुआ.

नाम के मुताबिक़ ही रंगीला एक रंगीन मिजाज और अयोग्य शासक साबित हुआ. वो अपना राजकाज मंत्रियों के भरोसे छोड़ लालकुंवर नामक एक वेश्या के साथ मग्न रहता था, बादशह बनते ही इस ने उल जुलूल हरकते शुरू कर दी। वो क़ानून तोड़ने और बनाने  में माहिर था । वह किसी को भी हिंदुस्तान की सबसे बड़ी पोस्ट सौंप देता दूसरे ही पल उसे उठा कर जेल में डाल देता। वो जब चाहता जिस वजीर को जेल भेज देता।वह अक्सर दरबार में नंगा आ जाता और कभी दरबार में हुक्म देता कि कल सभी लोग औरतो के कपडे में आयेंगे. मजबूरन सब को आना पड़ता था. इंकार की कोई गुंजाईश नहीं होती थी ।

वह दरबार में आता और ऐलान करता के जेल में सब कैदियों को आजाद कर दिया जाए और उतने ही लोगों को पकड़ कर जेल में डाल दिया जाए। बादशाह के हुक्म पर सिपाही शहर में निकलते और जो रास्ते में मिलता उसे पकड़ कर जेल में डाल देते। वह तवायफों के साथ दरबार में आता उन के ऊपर लेट कर हुकूमत का कारोबार चलाता। इतना ही नहीं उसने अपने दौर में अपने सब से अच्छे घोड़े को मंत्री का पद दिया था और ये घोडा और मंत्रियो , दरबारियों के साथ दरबार में मौजूद भी रहता था।

मुहम्मदशाह के काल में सैय्यद बंधुओं की मुग़ल सत्ता पर पकड़ ख़त्म हो गई .नादिरशाह ने भारत पर आक्रमण कर सारा मुग़ल खजाना लूट लिया .उसके बाद अहमदशाह अब्दाली ने भारत पर आक्रमण कर पूरे मुग़ल साम्राज्य को तहस नहस कर डाला .रही सही कसर मराठा सरदार बाजीराव पेशवा ने पूरी कर दी .उसने दिल्ली पर आक्रमण कर मुगलों को खूब लूटा और दक्षिण  के सारे महत्वपूर्ण प्रांत सहित गुजरात ,मालवा और बुंदेलखंड को मराठा साम्राज्य में मिला लिए .अवध और बंगाल ने खुद को स्वतंत्र घोषित कर दिया .यानि पूरा मुग़ल साम्राज्य टुकड़ों-टुकड़ों में बंट गया और मुहम्मद शाह अपनी ऐयाशियों में मस्त रहा .

रंगीला शराब अधिक पीने के कारण 26 अप्रैल 1748 में मृत्यु को प्राप्त हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here