दो मुस्लिम भाइयों ने की थी विशाल हिन्दू साम्राज्य की स्थापना

0
399

भारत के इतिहास में विजय नगर साम्राज्य का एक महत्वपूर्ण स्थान है .दक्षिण भारत का यही एक हिन्दू साम्राज्य था जिम्होने मुस्लिम आक्रमणकारियों से जमकर लोहा लिया और अंत तक टिके रहे .आपको ये जानकार हैरत होगी की इस साम्राज्य का निर्माण दो मुसलमान भाइयों ने की थी.

हरिहर और बुक्का नाम के दो भाई दक्षिण भारत के कम्पिली राज्य में मंत्री थे .मुहम्मद तुगलक ने इस राज्य को जीतकर बंदी बना लिया और दोनों भाइयों को मुस्लमान बनाकर अपने साथ दिल्ली ले गया .जल्द ही कम्पिली में विद्रोह हो गया तो तुगलक ने इन दोनों भाइयों को इस विद्रोह को दबाने के लिए भेज दिया .हरिहर और बुक्का जैसे ही कम्पिली पहुंचे उन्होंने फिर से हिन्दू धर्म अपना लिया और तुगलक के खिलाफ विद्रोह कर दिया. 1336 में हरिहर ने कम्पिली का नाम विजयनगर कर दिया और उसका राजा बन बैठा .हरिहर एक योग्य शासक साबित हुआ .उसने आसपास के कई राज्यों को जीतकर अपने राज्य में मिला लिया और एक विशाल साम्राज्य की नींव रखी.

1356 में उसकी मृत्यु के बाद उसका भाई बुक्का गद्दी पर बैठा .उसने तुगलक द्वारा मुसलमान बनाये गए सारे राजाओं को हिन्दू धर्म अपनाने के लिए मजबूर कर दिया और इस तरह वो एक शक्तिशाली हिन्दू राजा के रूप में मशहूर हो गया. उसने हरिहर के साम्राज्य विस्तार की नीति को आगे बढाते हुए रामेश्वरम तक फैला दिया और महाराजा की उपाधि धारण की .1377 में उसकी मृत्यु हो गई .तीन पीढ़ियों बाद इस वंश में कृष्णदेव राय जैसा प्रतापी राजा हुआ जिसने दक्षिण भारत में हिन्दुओं की धाक जमा दी .

दोस्तों ! अगर आप भारतीय इतिहास के बारे में और भी विस्तृत जानकारी चाहते हैं तो आप हमारे दुसरे चैनल यानि मिक्स पिटारा जरूर देखें .इस स्टोरी का अगला भाग यानी राजा कृष्ण देव राय के बारे में आपको वहां हम विस्तृत जानकारी देंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here