Delhi Sultante(part-7)हिन्दू माता की औलाद होकर भी हिन्दुओं पर क्यों कहर ढाता रहा ये सुल्तान

0
117

ग़यासुद्दीन तुग़लक़ पूर्णतः साम्राज्यवादी था।  1321 ई. में ग़यासुद्दीन ने वारंगल पर आक्रमण किया, किन्तु वहाँ के काकतीय राजा प्रताप रुद्रदेव को पराजित करने में वह असफल रहा। 1323 ई. में द्वितीय अभियान के अन्तर्गत ग़यासुद्दीन तुग़लक़ ने शाहज़ादे ‘जौना ख़ाँ’ (मुहम्मद बिन तुग़लक़) को दक्षिण भारत में सल्तनत के प्रभुत्व की पुन:स्थापना के लिए भेजा। जौना ख़ाँ ने वारंगल के काकतीय एवं मदुरा के पाण्ड्य राज्यों को विजित कर दिल्ली सल्तनत में शामिल कर लिया। ग़यासुद्दीन के समय में ही दक्षिण के राज्यों को दिल्ली सल्तनत में मिलाया गया। इन राज्यों में सर्वप्रथम वारंगल था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here